Up next


Story Of Kaal Bhairav

152 Views
Purvi Aggarwal
2
Published on 18 May 2020 / In Spiritual

⁣अगहन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को कालभैरव अष्टमी मनाई जाती है। इस दिन भगवान काल भैरव का जन्म हुआ था। शिव पुराण के अनुसार कालभैरव को भगवान शिव का अवतार माना जाता है, ये भगवान शंकर के दूसरे रूप हैं। इस बार काल भैरव अष्टमी 10 नवंबर, शुक्रवार के दिन है। इनकी पूजा से घर में नकारत्मक ऊर्जा, जादू-टोने, भूत-प्रेत आदि का भय नहीं रहता।

आइए जानते हैं काल भैरव की कहानी |


Credit/Source:- ⁣https://www.youtube.com/watch?v=2fuZG1auH1k

Show more
0 Comments sort Sort By

Facebook Comments

Up next