Immunity Boosters

Up next


Kya Bhulu Kya Yaad Karu Mein Poem by Harivansh Rai Bachchan - BoS Originals

413 Views
BoS
60
Published on 20 Dec 2018 / In Inspirational

Kya bhulu kya yaad karu mein...A very popular creation by Shri Harivansh Rai Bachchan Ji. Recited by our Team BoS.
BoS Originals
Kya Bhulu kya Yaad Karu main Poem:
क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं!
अगणित उन्मादों के क्षण हैं,
अगणित अवसादों के क्षण हैं,
रजनी की सूनी घड़ियों को
किन-किन से आबाद करूँ मैं!
क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं!
याद सुखों की आँसू लाती,
दुख की, दिल भारी कर जाती,
दोष किसे दूँ जब अपने से
अपने दिन बर्बाद करूँ मैं!
क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं!
दोनों करके पछताता हूँ,
सोच नहीं, पर मैं पाता हूँ,
सुधियों के बंधन से कैसे
अपने को आज़ाद करूँ मैं!
क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं!

If you like the Video, Hit LIKE, Share and Subscribe.

For more videos, visit our website www.beautyofsoul.com

Show more
0 Comments sort Sort By

Facebook Comments

Up next